विदेशी प्याज आयात करने वाले आयातकों, आयातकों, व्यापारियों के लिए सही कार्यक्रम किसान करेंगे ऐसी बात महाराष्ट्र प्याज उत्पादक महासंघ अद्यक्ष श्री भारत दिघोले कही है । प्याज उत्पादक किसान काफी मुशिक्लोसे गुजर राहा है वैसे में बोगस बीज, प्रतिकूल मौसम, भारी बारिश और बादल फटने की बारिश से खरीफ लाल प्याज को भारी नुकसान हुआ है और गर्मियों में आधे से अधिक प्याज 6-7 महीने तक संग्रहीत हैं, शेष गर्मियों के प्याज के साथ ताजा लाल प्याज की बाजार कीमतें बढ़ने लगी हैं।

दूसरे देशों से प्याज आयात करने की अनुमति के चलते मुंबई और महाराष्ट्र से कुछ प्याज आयातक प्याज का आयात कर रहे हैं। उससे भारतीय प्याज उत्पाद करणेवाला किसान काफी मुश्किल में आय है।

इस पार्श्वभूमी के खिलाफ, महाराष्ट्र राज्य प्याज उत्पादक संघ ने मुंबई और महाराष्ट्र से विदेशी प्याज आयात करने वाले प्याज विरोधी उत्पादकों (पूरे महाराष्ट्र से) के नाम, उपनाम, मोबाइल नंबर और तस्वीरें सूचीबद्ध की हैं। इसे सभी किसानों के लिए उपलब्ध कराया जाएगा। समूह के माध्यम से। प्याज उत्पादक ऐसे आयातकों, बाधाओं और व्यापारियों का उचित ध्यान रखेंगे और भविष्य में कोई भी प्याज उत्पादक उन्हें प्याज नहीं देगा। यह सभी आयातकों, बाधाओं और व्यापारियों द्वारा नोट किया जाना चाहिए ऐसी बात श्री भारत दिघोळे जी ने कही है ।